Sukanya samriddhi yojna क्या है?

भारत सरकार ने लड़कियों के भविष्य को उज्जवल बनाने के लिए बहुत सारी योजनाएं शुरू की है जिसमें से एक योजना sukanya samriddhi yojna है। सुकन्या समृद्धि योजना एक बचत योजना है, जो बैंक द्वारा ब्याज पर छूट तथा इनकम टैक्स की छूट दी गई है।

इस योजना की शुरुआत केंद्र सरकार द्वारा की गई है, इसमें भारत की बेटियां अपने भविष्य को उज्ज्वल बना सकती हैं। हमने इस लेख द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना को विस्तृत रूप से समझया हुआ है जैसे कि इस योजना का लाभ कौन लोग उठा सकते हैं।

इस योजना की विशेषता क्या है, इस योजना की विशेषताएं क्या हैं, तथा इसमें आवेदन करने के लिए कौन से दस्तावेज महत्वपूर्ण है। इस योजना को समझने के लिए आपको सभी जानकारियां ध्यान से पढ़नी होगी।

Sukanya samriddhi yojna

सुकन्या समृद्धि योजना की शुरुआत भारत सरकार ने 3 दिसंबर सन 2014 की तथा इसका प्रकाशन भारत सरकार ने अपने राज्य पत्र के द्वारा किया। इसमें बेटियों के लिए सरकार द्वारा बचत प्रोत्साहन देने के लिए सुकन्या समृद्धि खाता खोला।

सुकन्या समृद्धि खाता किसी भी बैंक या डाकघर में खोला जा सकता है। sukanya samriddhi account खोलने की न्यूनतम उम्र जन्म से तथा अधिकतम उम्र 10 साल तक है।

सुकन्या समृद्धि खाता में प्रतिवर्ष अधिकतम डेढ़ लाख रुपए जमा कर सकते हैं तथा इसका खाता को लगाते समय ₹250 न्यूनतम राशि जमा करनी होती है।

यह प्रत्येक परिवार में एक ही बेटी का खाता खोला जा सकता है, जैसा कि मैंने आपको पहले बताया हुआ, कि खाता खोलने की अधिकतम आयु सीमा 10 वर्ष तक मान्य है। उसके बाद यह खाता नहीं खोला जा सकता।

एक से अधिक बच्चियां जन्म लेते हैं तो उनका जन्म प्रमाण पत्र जुड़वा होना आवश्यक है। सुकन्या समृद्धि योजना के तहत यदि दो बच्चियों का जन्म एक साथ होता है तो दोनों बच्चियों का जॉइंट खाता खुलवाया जा सकता है।

यह नियम केवल जुड़वा बच्चों पर लागू है। सुकन्या समृद्धि योजना का खाता भारत देश में कहीं भी स्थानांतरित किया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि खाता में पैसा बेटी की उच्च शिक्षा तथा उसकी शादी के लिए जमा किया था। सुकन्या समृद्धि योजना बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ कार्यक्रम के अंतर्गत आती है।

इस खाते में भारत सरकार द्वारा 7.6% की दर से ब्याज दिया जाता है। इस खाते में भारत सरकार इनकम टैक्स की भी छूट देती है।

इस खाते में बेटी की उम्र 21 वर्ष होने तक पैसा जमा किया जाता है। यदि बेटी 18 वर्ष की हो जाती है तब उसकी उच्च शिक्षा के लिए 50% जमा पैसा में से निकाला जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में पैसा कैसे जमा होगा?

इस योजना के तहत किसी भी डाकघर में सुकन्या समृद्धि खाता खोला जा सकता है। यह खाता भारत सरकार ने बेटियों के लिए उनके शादी के लिए खोला था। सुकन्या समृद्धि के खाते में पैसा डाकघर द्वारा जमा किया जा सकता है।

तकनीकी के क्षेत्र में भारत में तरक्की की तथा अब भारतीय डाक ने अपना खुद का एप्लीकेशन लॉन्च किया है, जिसके द्वारा आप घर बैठे पैसा जमा कर सकते हैं। पहले भारती डाक बैंक में केवल करेन्ट अकाउंट ही खोले जाते थे।

लेकिन अब वर्तमान में भारतीय डाक ने सेविंग अकाउंट भी खोलने शुरू कर दिए हैं, जिससे अब खाता धारको को पैसा जमा करने के लिए पोस्ट ऑफिस जाने की आवश्यकता नहीं है।

जैसे-जैसे बैंक तकनीकी बढ़ती गई वैसे-वैसे बैंकों ने अपना घर बैठे खाता खोलने की सेवाएं शुरू कर दी। उसी प्रकार भारतीय डाक ने भी घर बैठे खाता खोलने की सेवा शुरू कर दी है।

अब किसी को पोस्ट ऑफिस जाकर खाता खोलने की आवश्यकता नहीं है। इसके लिए आपके पास एक आधार कार्ड होना आवश्यक है, तथा एक पैन कार्ड की आवश्यकता है।

IPPB application क्या है?

यह एप्लीकेशन (app) भारतीय डाक द्वारा शुरू की गई थी। इसमें बैंक अपने ग्राहकों के लिए लेन-देन की सुविधाएं उपलब्ध हैं। इसमें भारतीय डाक ग्राहक अपना लेनदेन ऑनलाइन करने की सुविधा दी गई है।

इस एप्लीकेशन के द्वारा सुकन्या समृद्धि योजना के तहत जितने भी खाते खोले गए हैं। उनका पैसा ऑनलाइन जमा हो सकेगा तथा भारतीय डाकघर की जितनी भी योजनाएं है।

उनका भी पैसा ऑनलाइन जमा किया जा सकता है व निकाला भी जा सकता है। इस एप्लीकेशन के तहत कस्टमर की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी आवश्यक है।

सुकन्या समृद्धि लोन योजना

यह योजना पीपीएफ के अंतर्गत शुरू की गई है इस योजना में सरकार द्वारा रेट दिया जाता है अन्य योजनाओं की तरह यह योजना बिल्कुल भिन्न है। क्योंकि इस योजना के तहत मात्र बालिकाएं ही इसका लाभ ले सकते हैं तथा इसकी निकासी बालिका बालिका की शादी के लिए उसके माता-पिता करते हैं।

इस योजना का पैसा 100% नहीं निकाला जा सकता। इसमें मात्र 50% बालिका इस शादी के लिए ही निकासी की जा सकती है। तथा बच्ची हुई राशि बालिका के उच्च शिक्षा के लिए निकासी की जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि योजना का खाता एक बैंक से दूसरे बैंक में कैसे ट्रांसफर होगा।

शुरुआती नियम के अनुसार सुकन्या समृद्धि योजना का खाता केवल डाक बैंक में ही खोला जा सकता था। लेकिन वर्तमान में यह खाता अन्य बैंकों में भी ट्रांसफर किया जा सकता है।

अकाउंट ट्रांसफर के लिए हमने कुछ निम्नलिखित बिंदुओं के द्वारा आप को निर्देश दिए हैं। उसे फॉलो करके आप सुकन्या समृद्धि खाता को ट्रांसफर कर सकते हैं।

सबसे पहली प्रक्रिया यह है, कि आपकी जो बैंक द्वारा दी गई पासबुक तथा अन्य केवाईसी दस्तावेज को लेकर, आपका जिस बैंक में अकाउंट हो, उसमें खाताधारक को लेकर जाना होगा यदि खाताधारक किसी कारणवश उपस्थित नहीं है, बिटिया के अभिभावक भी जा सकते हैं।

अब आपको सभी दस्तावेजों को बैंक में जमा कर देना। परंतु देने के बाद आपको बैंक मैनेजर को सूचना देनी होगी, कि हमको इस लोकेशन पर अकाउंट को ट्रांसफर करना है।

पिछली प्रक्रिया के बाद आपका पहली लोकेशन पर मौजूद खाते को बंद कर दिया जाएगा। इसके बाद आपसे कुछ दस्तावेजों की मांग की जाएगी। जिन दस्तावेजों की मांग बैंक द्वारा की गई है, आपको बैंक को देना होगा।

इसके बाद बैंक द्वारा एक ट्रांसफर रिएक्ट दिया जाएगा। जिसको आप के द्वारा चुने गए बैंक में जमा करना होगा।

उसके बाद बैंक द्वारा कुछ केवाईसी दस्तावेजों की मांग की जाएगी, उनको बैंक में जमा कर देना। जब आप केवाईसी दस्तावेजों को जमा कर देंगे, तब आपको नए बैंक द्वारा एक पासबुक दी जाएगी।

जैसे ही आपको नए बैंक द्वारा पासबुक दी जाती है, समझ लीजिए आपका सुकन्या समृद्धि अकाउंट चलने लगा है।

सुकन्या समृद्धि अकाउंट बंद होने के बाद दोबारा कैसे खोलें?

जैसा कि आपको ऊपर लेख के द्वारा इस योजना के बारे में बताया है, कि यह योजना केंद्र सरकार के द्वारा बेटियों के शादी के लिए तथा उनकी उच्च शिक्षा के लिए शुरू की गई है।

इस योजना में केवल वह बच्चियां लाभ उठा सकती हैं, जिनकी उम्र 10 वर्ष से कम है। इस योजना में कम से कम 250 रुपए प्रतिवर्ष जमा करना होता है, तथा अधिकतम जमा करने की सीमा डेढ़ लाख रुपए है।

इस योजना का नियम यह कि इसमें कम से कम ₹250 की राशि जमा करना अनिवार्य है। यदि आप किसी कारण इस राशि को नहीं जमा कर पाते हैं तो सुकन्या समृद्धि खाता बंद हो जाता है। बंद हुए अकाउंट को खोलने के लिए हमने कुछ निम्नलिखित बिंदु बताएँ हैं-

बंद हो गए अकाउंट को खुलवाने के लिए खाता धारक को बैंक जाना होगा जहां उसका सुकन्या समृद्धि खाता है।
उसके बाद बैंक जाकर वहां एक फॉर्म भरना होगा तथा इसके बाद खाताधारक बकाया किस्त के दुगुना राशि बैंक में जमा करना होगा।

यदि आपने 2 वर्ष की राशि का भुगतान नहीं किया है तो आपको ₹250 तो देने ही पड़ेंगे, लेकिन इसके अतिरिक्त ₹50 प्रति वर्ष जुर्माने का भुगतान करना होगा।

सुकन्या समृद्धि खातों में कब तक पैसा जमा करना होगा?

बहुत सारे लोग सोच रहे होंगे, कि आखिर इस योजना में कब तक पैसा जमा करना पड़ेगा। लेकिन यह सोचना उनका बिल्कुल सही है। क्यूँकि इस योजना में आपको न्यूनतम राशि ₹250 प्रतिवर्ष जमा करनी होती है, तथा न्यूनतम राशि डेढ़ लाख रुपए प्रतिवर्ष जमा करनी होती है। यह राशि कम से कम सुकन्या समृद्धि खाते में 14 सालों तक भुगतान करना होगा।

इस योजना के महत्वपूर्ण तथ्य

यदि आप अपनी बेटी का सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खाता खोलना चाहते हैं तो आपको कुछ महत्वपूर्ण जानकारियां पता होना चाहिए। हमने कुछ निम्नलिखित इंपॉर्टेंट तथ्य बताए हैं तथा इन तथ्यों को ध्यानपूर्वक पढ़ें-

सुकन्या समृद्धि योजना के तहत सरकार द्वारा 7.6 प्रतिशत ब्याज दर निर्धारित की गई है। भारतीय संविधान के अनुसार धारा 80C के द्वारा इनकम टैक्स विभाग इस योजना में हस्तक्षेप नही करेगा।

सुकन्या समृद्धि योजना बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ के कार्यक्रम तहत चलाए जा रही है। इस योजना में बिटिया के उच्च शिक्षा के लिए 50% राशि निकाली जा सकती है वो भी बिटिया की उम्र 18 वर्ष होनी अनिवार्य है।

50% शेष राशि बेटी की शादी के लिए निकाली जा सकती है। वो तब जब बेटी की आयु 21 वर्ष की पूरी हो चुकी हो ।
इस योजना में न्यूनतम राशि ₹250 जमा की जा सकती है, तथा अधिकतम राशि ₹150000 तक जमा की जा सकती है।

सुकन्या समृद्धि खाता मात्र ₹250 में खुलवाया जा सकता है। इस खाते को खुलवाने के लिए बेटी की अधिकतम उम्र 10 साल होनी चाहिए तथा न्यूनतम उम्र 0 वर्ष । यह अकाउंट किसी भी बैंक में खुलवाया सकता है।

सुकन्या समृद्धि Default account क्या है?

नए नियमों के अनुसार सरकार ने 12 दिसंबर 2019 को एक सूचना जारी की जिसमें कहा गया कि यदि खाताधारक न्यूनतम राशि ₹250 प्रति वर्ष नहीं जमा कर पाता है, तो उसका अकाउंट डिफॉल्ट माना जाएगा, और बैंक द्वारा 8.7% ब्याज दर की जगह से मात्र 4% की दर से ही व्याज दिया जयेगा। यदि आप भी अपनी बेटी का सुकन्या समृद्धि अकाउंट खुलवाना चाहते हैं, तो आपको इन चीजों का ध्यान रखना होगा।

सुकन्या समृद्धि scheme 2021 क्या है?

सुकन्या समृद्धि स्कीम 2021 खाते से पैसा निकालने से संबंधित है इसमें बेटी 18 वर्ष होने पर उसकी उच्च शिक्षा के लिए 50% राशि निकाली जा सकती तथा शेष राशि 21 वर्ष होने पर उसकी शादी के लिए निकाली जा सकती है इसमें खाता धारक द्वारा जमा की गई राशि तथा बैंक द्वारा दिया गया ब्याज भी शामिल किया जायेगा।

किन-किन बैंको में सुकन्या समृद्धि खाता खोला जा सकता है?

सुकन्या समृद्धि अकाउंट RBI द्वारा किसी भी राष्ट्रीय कृत बैंक में खोल जा सकता है। आरबीआई ने सबसे पहले 14 बड़े बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया था लेकिन धीरे-धीरे इसने 14 और बड़े बैंकों को राष्ट्रीयकारण किया है। उनमें से हमने कुछ बैंकों को निम्नलिखित बिंदुओं से दर्शाया है-

  1. State Bank of India
  2. Bank of India
  3. Allahabad Bank
  4. Corporation Bank
  5. Dena Bank
  6. Bank of Maharashtra
  7. Punjab National Bank
  8. ICICI Bank
  9. Union Bank
  10. UCO Bank
  11. Vijaya Bank
  12. Punjab and Sindh Bank
  13. Syndicate Bank
  14. IDBI Bank
  15. Union Bank of India
  16. Central Bank of India
  17. Canara Bank
  18. Bank of Baroda

सुकन्या समृद्धि अकाउंट खोलने के लिए documents

इस योजना के नियमों के अनुसार निम्नलिखित दस्तावेजों की आवश्यकता होगी-

  1. सुकन्या समृद्धि खाता खुलवाने के लिए बेटी की उम्र कम से कम 0 वर्ष तथा अधिकतम 10 वर्ष तक होनी चाहिए।
  2. बेटी का आधार कार्ड होना चाहिए।
  3. बेटी तथा उसके अभिभावकों की एक ही फोटो की आवश्यकता होगी।
  4. बेटी का निवास प्रमाण पत्र होना जरूरी है।
  5. बेटी का जन्म प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।
  6. बेटी के माता पिता का आधार कार्ड या पैन कार्ड या राशन कार्ड होना आवश्यक है।

निष्कर्ष

उम्मीद करता हूँ, अब आप को सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो गई होगी। हमने आपको बताया है कि इस योजना में कैसे आवेदन करना है तथा कौन कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। यदि आपको ऐसे ही इंटरेस्टिंग लेख पढ़ने हैं तो हमारी वेबसाइट विजिट करें।

हमने कई केंद्र व राज्य सरकारों के द्वारा चलाई जा रही, योजनाओं के बारे में अन्य लेखों के द्वारा बताया है। यदि लेख पसंद आया हो, तो हमें नीचे कमेंट में अवश्य बताएं तथा सुकन्या समृद्धि योजना के बारे में अपने दोस्तों व रिश्तेदारों के साथ अवश्य शेयर करें, ताकि उनको भी इस योजना के बारे में पता चल सके।

धन्यवाद!

Leave a Comment